Rehbar tere charno main | रहबर तेरे चरणों में Lyrics, nirankari geet, nirankari bhajan, niranakri shabd, nirankari lyrics
Posted inधार्मिक लिरिक्स हिन्दी में / निरंकारी गीतों के लिरिक्स हिन्दी में

रहबर तेरे चरणों में लिरिक्स हिन्दी में

निरंकारी गीत / भजन रहबर तेरे चरणों में लिरिक्स हिन्दी में जस्ट लिरिक्स पर उपलब्ध हैं । इस निरंकारी गीत को कमल खान जी ने अपने मधुर सुरों से सजाया है और विवेक शौक़ जी ने इसके लिरिक्स लिखे है ।

निरंकारी गीत / भजन के बारे में जानकारी

क्र.सं.विषयजानकारी
1गीत/भजन का नामरहबर तेरे चरणों में
2गायनकमल खान जी
3लेखनविवेक शौक जी
4उपलक्ष्य/एल्बमतेरा एहसास रहे
5तारीख24 अगस्त 2022
6copyrightसन्त निरंकारी मिशन

निरंकारी गीत रहबर तेरे चरणों में लीरिक्स की विडियो

निरंकारी गीत रहबर तेरे चरणों में लिरिक्स हिन्दी में

इक इक सांस विवेक
इक इक सांस विवेक
इसी का दिया है
जो मैं लेता हूँ
अरे अपना आप जताने को
अब और ये क्या एहसान करे
अपना आप जताने को
अब और ये क्या एहसान करे

रहबर तेरे चरणों में….
हर स्वास गुजर जाए
जिस स्वास तुझे भूलूँ….
जिस स्वास तुझे भूलूँ….
वो स्वास ठहर जाए
रहबर तेरे चरणों में….
हर स्वास गुजर जाए
रहबर तेरे चरणों में….
हर स्वास गुजर जाए

सभ छोड़ के मोह माया …..
इक तुझ संग प्यार रहे…
सभ छोड़ के मोह माया …..
इक तुझ संग प्यार रहे…
दुनिया का भरोसा क्या
तेरा ऐतबार रहे
तेरा ऐतबार रहे
तू ही तो है जो अपना
बनके ना मुकर जाए
तू ही तो है जो अपना
बनके ना मुकर जाए
जिस स्वास तुझे भूलूँ….
जिस स्वास तुझे भूलूँ….
वो स्वास ठहर जाए
रहबर तेरे चरणों में….
हर स्वास गुजर जाए
रहबर तेरे चरणों में….
हर स्वास गुजर जाए

दुनिया में जिसे अपना
समझा वो न बन पाया
दुनिया में जिसे अपना
समझा वो न बन पाया
जब दिल ने तमन्ना की
मुर्शद ने यह समझाया
मुर्शद ने यह समझाया
दुनिया एक सपना है
जो सुबह बिखर जाए
दुनिया एक सपना है
जो सुबह बिखर जाए
जिस स्वास तुझे भूलूँ….
जिस स्वास तुझे भूलूँ….
वो स्वास ठहर जाए
रहबर तेरे चरणों में….
हर स्वास गुजर जाए
रहबर तेरे चरणों में….
हर स्वास गुजर जाए

तुझे चाहने वाले को
चाहत ना रहे कोई
तुझे चाहने वाले को
चाहत ना रहे कोई
तुझे भूलने वाले
राहत ना रहे कोई
राहत ना रहे कोई
तुझे पाके भुला दे जो
इन्सा वो किधर जाए

तुझे पाके भुला दे जो
इन्सा वो किधर जाए
जिस स्वास तुझे भूलूँ….
जिस स्वास तुझे भूलूँ….
वो स्वास ठहर जाए
रहबर तेरे चरणों में….
हर स्वास गुजर जाए
रहबर तेरे चरणों में….
हर स्वास गुजर जाए

मुझे तेरा सहारा है
मैं और किधर जाऊँ
मुझे तेरा सहारा है
मैं और किधर जाऊँ
तू है तो विवेक भी है
बिन तेरे मैं मर जाऊँ
बिन तेरे मैं मर जाऊँ
क्या मोल शरीरों का
गर आत्मा मर जाए
क्या मोल शरीरों का
गर आत्मा मर जाए
जिस स्वास तुझे भूलूँ….
जिस स्वास तुझे भूलूँ….
वो स्वास ठहर जाए
रहबर तेरे चरणों में….
हर स्वास गुजर जाए
रहबर तेरे चरणों में….
हर स्वास गुजर जाए

जस्ट लिरिक्स पर निरंकारी गीत लिरिक्स हिन्दी में पढने के साथ आपको यह भी पसंद आएगा :

3 thoughts on “रहबर तेरे चरणों में लिरिक्स हिन्दी में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *