latest panjabi romentic song 24/7 Parsann lyrics in hindi at just lyrics.लेटेस्ट पंजाबी रोमांटिक गीत 24/7 पर्सन्न लिरिक्स हिन्दी में अब जस्ट लिरिक्स पर उपलब्ध हैं।
Posted inपंजाबी गीतों के लिरिक्स हिन्दी में / पंजाबी रोमांटिक गीतों के लिरिक्स हिन्दी में 

लेटेस्ट पंजाबी रोमांटिक गीत 24/7 पर्सन्न लिरिक्स हिन्दी में

25 जनवरी 2024 लेटेस्ट पंजाबी रोमांटिक गीत 24/7 पर्सन्न लिरिक्स हिन्दी में अब जस्ट लिरिक्स पर उपलब्ध हैं। इस पंजाबी गीत के लिरिक्स गिल रौंटा जी ने लिखे हैं और कोराला मान जी और गुरलेज़ अक्खर जी ने अपने सुरों से सजाया है ।

लेटेस्ट पंजाबी रोमांटिक गीत की जानकारी

क्र.सं.विषयजानकारी
1गीत का नाम24/7 पर्सन्न
2गायककोराला मान जी और गुरलेज़ अक्खर जी
3लेखक गिल रौंटा जी
4प्रकाशकWhite Hill Music
5प्रकाशन तिथि25 जनवरी 2024

लेटेस्ट पंजाबी रोमांटिक गीत 24/7 पर्सन्न लिरिक्स की वीडियो

लेटेस्ट पंजाबी रोमांटिक गीत 24/7 पर्सन्न लिरिक्स हिन्दी में

क्यों चलदे स्लो टोन गले दी आ लो
नाले नाल दे नू कातों भाई भाई कहने आं
साडी मट्ठी मट्ठी चाल सानूं जम नी कोई काहल
बस चत्तों पैहर बिल्लो परसन रहने आं
वे लाली थोड़े मुहाँ उत्ते रेहंदी दगदी
लाली थोड़े मुहाँ उत्ते रेहँदी दगदी
लेंने आ नजारा अफगानी खुरी दा
वे की खा के चौबरा घराँ चो तुरदे
बस कहणे विच कर के शरीर तुरी दा
ओह की खा के चौबरा घराँ चो तुरदे
बस कहणे विच कर के शरीर तुरी दा
की खा के चौबरा घराँ चो तुरदे
बस कहणे विच कर के शरीर तुरी दा…………..

थोड़े नेफे लाये संद चढ़े चंद सिटी वंद
वे क्यूँ नी डरदे क्यूँ नी डरदे
नी केहड़ा साड्डा शहर लैंदे लैहर
वड्डे वैर नी चैलेंज जर दे
थोड़े नेफे लाये संद चढ़े चंद सिटी वंद
वे क्यूँ नी डरदे क्यूँ नी डरदे
नी केहड़ा साड्डा शहर लैंदे लैहर
वड्डे वैर नी चैलेंज जर दे
गल मुँह ते कसेली कौड़ी बक्क दिन्ने ओं
मुँह ते कसेली कौड़ी बक्क दिन्ने ओं
नी पिठ पीछे बल्ली ए जमा नी झूरी दा
वे की खा के चौबरा घराँ चो तुरदे
बस कहणे विच कर के शरीर तुरी दा
ओह की खा के चौबरा घराँ चो तुरदे
बस कहणे विच कर के शरीर तुरी दा……….

ओह नित्त नवें वाके तुसी विगड़े जेहे काके
वे समझो की जिंदगी जिओण नू
ओह शेहरों दूर पिंड साड्डी भैडी ऐ नी हिंड
जट्ट जमेया नी अल्लडे खलारे पौण नू
ओह शेहरों दूर पिंड साड्डी भैडी ऐ नी हिंड
जट्ट जमेया नी अल्लडे खलारे पौण नू
स्ट्रेट फॉरवर्ड ताड़-ताड़ चलदी
नी साड्डे नी रवाज बुकलाँ च छुरी दा
साड्डे नी रवाज बुकलाँ च छुरी दा
वे की खा के चौबरा घराँ चो तुरदे
बस कहणे विच कर के शरीर तुरी दा
ओह की खा के चौबरा घराँ चो तुरदे
बस कहणे विच कर के शरीर तुरी दा………

वे डिम्म जेई लाईट सारी घुमदे नाईट
वे जट्टा एह केहड़े दस किरदार हुंदे आ
ओह रौंटे अला गिल गाणे लिखदा जो किल
कहे साफ दिल नेरेया दे यार हुंदे आ
रौंटे अला गिल गाणे लिखदा जो किल
कहे साफ दिल नेरेया दे यार हुंदे आ
हां मैनू दिल चौं ना कड्डी मेरा हाथ ना वे छड़ी
दिल चौं ना कड्डी मेरा हाथ ना वे छड़ी
असीं सदा ही कहाणी सिरा ला के मुड़ी दा
वे की खा के चौबरा घराँ चो तुरदे
बस कहणे विच कर के शरीर तुरी दा
ओह की खा के चौबरा घराँ चो तुरदे
बस कहणे विच कर के शरीर तुरी दा………

लेटेस्ट पंजाबी रोमांटिक गीत 24/7 पर्सन्न लिरिक्स हिन्दी में के अलावा आपको यह भी पसंद आएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *